मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने छिन्दवाड़ा में दो दिवसीय कॉर्न फेस्टिवल में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों द्वारा कृषि आदान, सिंचाई यंत्र, कृषि यंत्र, उन्नत तकनीक और मक्का की विभिन्न प्रजातियों के उन्नत बीजों पर आधारित विशाल प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रदर्शनी में पर्याप्त समय दिया। मुख्यमंत्री प्रत्येक स्टाल तक पहुँचे और उन्होंने प्रदर्शनी को कृषकों के लिये उपयोगी बताया। प्रदर्शनी जोन में 120 से अधिक स्टाल लगाये गये हैं। प्रदर्शनी में बीज, कीटनाशक दवा निर्माता कम्पनियाँ, उर्वरक प्रदाता, कृषि यंत्र प्रदाता कंपनियों ने अपने स्टाल लगाये हैं। कृषकों के लिये उन्नत तकनीक के साथ ही उपयोगी जानकारियाँ भी प्रदर्शित की गई हैं। प्रदर्शनी में कृषकों को कृषि के लिये वित्तीय मदद तथा जैविक कृषि को बढ़ाने की जानकारी भी दी जा रही है।

प्रदर्शनी में बताया जा रहा है कि अलग-अलग भूमि तथा पर्यावरण के लिये अनुकूल मक्का की प्रजातियाँ कौन-सी हैं। उनके बीज से होने वाले मक्का फसल की उत्पादकता क्या होगी। छिन्दवाड़ा जिले में पूर्व में मक्का की फसल पर फॉल आर्मि वर्म का प्रकोप हुआ था। प्रदर्शनी में मक्का फसल से इस कीट को नष्ट करने के उपायों की जानकारी भी दी जा रही है।

प्रदर्शनी में छिन्दवाड़ा नगर स्थित जूतों और फैशन डिजाईन से संबंधित महाविद्यालय और प्रशिक्षण संस्थान एफडीडीआई, एटीडीसी ट्रेनिंग सेंटर, सिल्क हैंडलूम सौंसर और उद्यानिकी उत्पादों से संबंधित कंपनियों के स्टाल भी हैं। राष्ट्रीय स्तर की उन्नत कृषि यंत्र निर्माता कंपनियों के ऐसे कृषि यंत्रों का सजीव प्रदर्शन किया गया है, जिनका आज तक किसानों द्वारा पहले कभी उपयोग नहीं किया गया। यहाँ ऐसे बड़े कृषि यंत्रों का प्रदर्शन भी हो रहा है, जो किसानों के लिये उपयोगी हैं परंतु योजनाओं में कृषकों को प्रदाय नहीं किया जाता है। उन यंत्रों के प्रदर्शन के साथ इनोवेटिव योजनाओं में किसानों से ऑन स्पॉट बुकिंग कराई जाकर किसानों को उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है।