गुजरात: गुजरात (Gujarat) के 7 विधानसभा की खाली सीटों में से 6 सीटों पर उपचुनाव होने वाले है. जिसके लिए बीजेपी (bjp) ने अपनी पूरी ताकत लगा दी है.  सीएम विजय रुपाणी ने गुजरात के अरावली में रैली के दौरान कहा कि राम मंदिर के निर्माण के दिन अब दूर नहीं हैं. राम मंदिर के सपने को पूरा कर के हिंदुओं के सम्मान को आगे बढ़ाना है. राम मंदिर के निर्माण के साथ भारत जगत जननी बने जा रहा है. राम मंदिर के मामले में कांग्रेस ने बहुत रुकावट डाली है. इस सभा के दौरान जय श्री राम के नारे भी लगाए गए. पाकिस्तान पर बोलते हुए रुपाणी ने कहा कि भारत ने पाकिस्तन को मुंहतोड़ जवाब दिया है.

पकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब इस देश की 56 इंच की छाती वाले प्रधानमंत्री ने दिया है. रूपाणी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि 10 साल तक मनमोहन जी की सरकार थी जब मुंबई हमलें में 156 लोग मारे गए थे तब सरकार ने पकिस्तान से क्या बदला लिया था.


कांग्रेस वोट के लिए पाकिस्तान और आतंकियों की भाषा बोल रही है. सीएम रुपाणी ने सभा में मनमोहन की मिमिक्री भी की. रुपाणी ने कहा कि, कांग्रेस ने 70 साल तक शौचालय भी नहीं बनवाए थे. बहन बेटियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए 12 करोड़ शौचालय बनवाई गए हैं. 

बीजेपी की 6 सीटों पर सबसे ज्यादा उम्मीदवार अमराईवाड़ी सीट पर हैं. अमराईवाड़ी सीट शहरी सीट होने की वजह से यह बीजेपी की सबसे सुरक्षित सीट मानी जाती है तो वहीं इस सीट पर 40 से ज्यादा उम्मीदवार इस सीट के लिए मैदान में उतरें है. 40 से अधिक दावेदारों ने खुद का बायो डेटा प्रदेश नेताओं  को भेजा है. 

यह सीट 2008 में डीलिमिटेशन के बाद अस्तित्व में आई थी जहां से साल 2012 और 2017 के चुनाव में हसमुख पटेल विधायक बने थे. तो वहीं इस सीट पर इस बार भी पाटीदार समाज को टिकट मिलने की आशा के साथ ज्यादातर पाटीदार समाज के नेताओ ने अपनी दावेदारी दर्ज कराई है. 


अमराईवाड़ी सीट पर इस बार महिलएं भी आगे आई है और अपनी दावेदारी दर्ज करवाई है. इस शहर की 16 विधानसभा सीटों और 3 लोकसभा सीटों में से एक में भी महिला उम्मीदवार को टिकट नहीं दी गई थी जिसके कारण इस बार अमराईवाड़ी पर महिला उम्मीदवार को टिकट दी जाए ऐसी मांग उठ रही है. अमराईवाड़ी सीट के मुख्य दावेदारों की बात करें तो डॉ विष्णु पटेल, प्रवीण पटेल, महामंत्री कमलेश पटेल, रमेश देसाई के नाम चर्चा में हैं. 

क्या है अन्य सीटों का हाल
अन्य सीटों की बात है तो वहा तक खेरालु सीट पर संसद भरतसिंह डाभी के परिवार से ही किसी को टिकट मिले ऐसी संभावनाओं के बीच रामसिंह डाभी, रामीलाबेन देसाई अपनी उम्मीदवारी जता रही है. थराद सीट के लिए सांसद परबत पटेल के बेटे शैलेश पटेल और पूर्व आरोग्य मंत्री शंकर चौधरी ने नाम चर्चा में है. तो वही लूणावाड़ा सीट पर जी पी पटेल, जुवानसिंह चौहाण, मनुभाई पटेल, कालू मालीवाड़ और जिग्नेश सेवक के नाम चर्चा में है. राधनपुर सीट की बात करें तो पूर्व विधायक अल्पेश ठाकोर की टिकट निश्चित है और बायड सीट पर पूर्व विधायक धवलसिंह झाला और महेन्द्रसिंह वाघेला के नाम की चर्चा चल रही है. 

इन 6 सीटों के अलावा एक और खाली सीट पर चुनाव का एलान किया जा सकता है. ये 7वीं मोरवाहडफ सीट को लेकर शुनाव आयोग कानूनी राय ले रहा है. इस मामले की कानूनी प्रकिया पूरी होने के बाद चुनाव आयोग इस सीट के लिए उपचुनाव का ऐलान कर सकता है.