कांग्रेस में जारी घमासान के बीच पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज गुरुवार को विदेश से वापस भारत लौट आए और विदेश से वापसी के बाद मानहानि केस में वह सूरत की सेशंस कोर्ट में पेश भी हुए, लेकिन उन पर सुनवाई टल गई और अब अगली सुनवाई 10 दिसंबर को होगी.
    विदेश से लौटे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधीसूरत की सेशंस कोर्ट में राहुल गांधी आज पेश हुए

कांग्रेस में जारी घमासान के बीच पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज गुरुवार को विदेश से वापस भारत लौट आए और विदेश से वापसी के बाद मानहानि केस में वह सूरत की सेशंस कोर्ट में पेश हुए, हालांकि उन पर सुनवाई टाल दी गई और अब अगली सुनवाई 10 दिसंबर को होगी.

क्या आपको आरोप कुबूल है?

सेशंस कोर्ट में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सुनवाई के दौरान कोर्ट से कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है.  इससे पहले जब वह कोर्ट पहुंचे तो जज ने उन पर लगे आरोप को पढ़कर सुनाया.

कोर्ट की ओर से राहुल गांधी से पूछा गया कि आप पर जो आरोप लगे हैं क्या वो आपको कुबूल हैं. इस पर राहुल गांधी ने कहा, 'मैंने कुछ गलत नहीं कहा है.' इसके बाद राहुल गांधी के वकील की ओर से सुनवाई के लिए तारीख मांगी गई तो कोर्ट ने 10 दिसंबर की नई तारीख दे दी.

साथ ही राहुल गांधी के वकिल किरीट पानवाला की ओर से याचिका दायर की गई की कि उन्हें (राहुल गांधी) अब सुनवाई के दौरान उपस्थित नहीं रहने की राहत दी जाए, कोर्ट ने इस पर भी अगली सुनवाई 10 दिसंबर को रखी है.

इससे पहले सेशंस कोर्ट जाने के लिए करीब 40 मिनट पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सूरत एयरपोर्ट पहुंचे थे.
इस बीच कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कहा कि राहुल गांधी को मानहानि के केस में कोर्ट में पेश होने का समन दिया गया था. कानून अपना काम करेगा. हम इस पर नजर बनाए रखे हुए हैं कि कोर्ट क्या फैसला लेता है.
राहुल गांधी की कोर्ट में पेशी के इतर कांग्रेस ने अलग तरह की तैयारी की है. सूरत एयरपोर्ट से लेकर कोर्ट तक कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हुजूम राहुल गांधी का स्वागत करेगा.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज सूरत की एक अदालत में पेश होंगे. 'मोदी उपनाम' मानहानि मामले में राहुल गांधी की पेशी होगी. जहां एयरपोर्ट से लेकर कोर्ट तक राहुल गांधी का पार्टी के कार्यकर्ता भव्य स्वागत करेंगे. राहुल पर मानहानि का केस करने के मामले में कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल का कहना है कि लोकतंत्र में सत्तारुढ़ पार्टी को विपक्ष की आलोचना का सामना करना होता है. राहुल ने कहा था कि ललित मोदी और नीरव मोदी चोर हैं और नरेंद्र मोदी नाकाम साबित हुए. लेकिन बीजेपी ने इसे मोदी समाज से जोड़कर पूरे समाज का अपमान किया है.
क्या है मामला?

दरअसल, लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान राहुल गांधी ने विवादित बयान दिया था. राहुल गांधी ने कहा था कि 'सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों होता है.' इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ स्थानीय बीजेपी विधायक पूर्णेश मोदी ने आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था.

सूरत पश्चिम सीट से विधायक पूर्णेश मोदी ने अपनी शिकायत में कहा था कि राहुल गांधी ने पूरे मोदी समुदाय को बदनाम किया है. विधायक ने एक चुनावी रैली का जिक्र किया, जहां राहुल गांधी ने पूछा था कि 'नीरव मोदी, ललित मोदी, नरेंद्र मोदी...इन सबका उपनाम मोदी ही कैसे है? सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं?’