कांग्रेस नेता शशि थरूर ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर एक बार फिर से अपना गुस्सा जाहिर किया है. शशि थरूर ने कहा कि पहलू खान के पास गाय को ले जाने का लाइसेंस था, लेकिन उसे भी भीड़ ने मार दिया. क्या चुनाव के एक नतीजे ने इन लोगों को इतनी ताकत दे दी है कि वे कुछ भी कर सकते हैं, किसी को भी मार सकते हैं?
    6 साल में मॉब लिंचिंग के कई मामले सामने आएराम के नाम पर मारपीट हिंदू धर्म का अपमान

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर एक बार फिर से अपना गुस्सा जाहिर किया है. पुणे में एक कार्यक्रम में कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि पिछले 6 सालों में हम क्या देख रहे हैं? उन्होंने कहा कि पुणे में मोहसिन शेख नाम के शख्स की हत्या के साथ ये सिलसिला शुरु हुआ है. इसके बाद मोहम्मद अखलाक को मार दिया गया और कहा गया कि उसके पास बीफ था, लेकिन बाद में ये बात सामने आई कि उसके पास बीफ नहीं था. अगर ये बीफ था भी तो उसे मारने की इजाजत इन लोगों को किसने दी थी.

शशि थरूर ने कहा कि पहलू खान के पास गाय को ले जाने का लाइसेंस था, लेकिन उसे भी भीड़ ने मार दिया. क्या चुनाव के एक नतीजे ने इन लोगों को इतनी ताकत दे दी है कि वे कुछ भी कर सकते हैं, किसी को भी मार सकते हैं?
शशि थरूर ने कहा कि क्या यही हमारा भारत है और क्या हिंदू धर्म यही कहता है. उन्होंने कहा कि मैं हिंदू हूं लेकिन इस तरह का नहीं. लोगों को जय श्री राम कहने के लिए मारा जाता है, ऐसा करना हिंदू धर्म का अपमान है. यह भगवान राम का अपमान है कि लोग उनके नाम का इस्तेमाल करके मारे जा रहे हैं.
शशि थरूर ने कहा कि भारत अब एक ऐसा देश बन गया है जहां सहिष्णुता के लिए कोई जगह नहीं है. उन्होंने कहा कि भारत में राजनीति का ध्रुवीकरण हुआ है और इसके लिए खासतौर पर सत्ताधारी दल के कृत्य और पसंद जिम्मेदार हैं.