इन्दौर । देश का नामचीन इंडियन टेलीविजन एकेडमी अवार्ड समारोह देश के सबसे स्वच्छ शहर इन्दौर में पहली बार होने जा रहा है। आगामी 10 नवम्बर को स्थानीय नेहरू स्टेडियम में आयोजित होने वाला 19वाँ इंडियन टेलीविजन एकेडमी अवार्ड समारोह का यह आयोजन मध्य प्रदेश के लिए गर्व का विषय है। म.प्र. सरकार आयोजन में भागीदार है और इसके लिये सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जायेगी। 
यह जानकारी जनसम्पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा ने शुक्रवार को इन्दौर के होटल रेडीसन में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ के विशेष प्रयासों से आयोजन की मेजबानी मध्यप्रदेश को मिली है। इससे मध्यप्रदेश में फिल्म निर्माण और टेलीविजन धारावाहिक की शूटिंग के लिये अनुकूल वातावरण निर्मित होगा। हमारे यहां महेश्वर, माण्डव, चन्देरी, जबलपुर, इन्दौर, होशंगाबाद और भोपाल में समय-समय पर फिल्में शूट की गई हैं। मध्यप्रदेश में इस क्षेत्र में अपार संभावनाएं मौजूद हैं। मध्यप्रदेश सरकार फिल्म और टेलीविजन इंडस्ट्री को मध्यप्रदेश में बढ़ावा देने सभी आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने में हर संभव सहयोग प्रदान करेगी।
इस अवसर पर आयुक्त जनसम्पर्क पी.नरहरि, फिल्म एवं टी.वी.कलाकार विजेन्द्र घाटगे, इंडियन टेलीविजन एकेडमी की अध्यक्ष सुश्री अनु राजन, संयोजक शशि रंजन, टी.वी.सीरियल “भाभीजी घर पर है” की कलाकार शुभांगी अत्रे, सुश्री रागिनी मक्कड़, सोनी टेलीविजन हेड प्रोग्रामिंग आशीष गोलकर सहित अन्य कलाकार उपस्थित थे।
कार्यक्रम के आरंभ में इंडियन टेलीविजन एकेडमी की अध्यक्ष सुश्री अनु रंजन द्वारा जनसम्पर्क मंत्री पी.सी.शर्मा तथा आयुक्त जनसम्पर्क पी. नरहरि सहित उपस्थित अतिथियों का स्वागत किया गया। स्वागत के पश्चात इंडियन टेलीविजन एकेडमी के पूर्व इतिहास संबंधी संक्षिप्त फिल्म उपस्थित अधिकारियों व मीडिया को दिखायी गयी।
टेलीविजन एकेडमी अवार्ड-2019 के संबंध में आयुक्त जनसम्पर्क नरहरि द्वारा विस्तृत रूप से जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि 19वाँ इंडियन टेलीविजन एकेडमी अवार्ड देश का सबसे बड़ा और सबसे भरोसेमंद टीवी अवार्ड है। सोनी टीवी देश का प्रमुख चैनल है। यह अवार्ड 19 वर्षों से दिया जा रहा है। यह प्रथम अवसर है जब मध्यप्रदेश में यह समारोह आयोजित होने जा रहा है।
फिल्म कलाकार विजेन्द्र घाटगे ने बताया कि 19वाँ इंडियन टेलीविजन एकेडमी अवार्ड पहली बार मिनी मुम्बई के रूप में पहचाने जाने वाले इन्दौर के स्थानीय नेहरू स्टेडियम में आयोजित होने जा रहा है। यह अवार्ड मध्यप्रदेश की समृद्ध संस्कृति और विरासत को प्रदर्शित करने के लिये एक अनूठा मंच होगा।
इंडियन टेलीविजन एकेडमी की अध्यक्ष सुश्री अनु रंजन ने बताया कि इस कार्यक्रम में टेलीविजन जगत से जुडे करीब 300 कलाकार, निर्माता तथा तकनीशियन भाग लेंगे। इस पुरस्कार कार्यक्रम को सोनी एंटरटेनमेंट टीवी पर सीधे प्रसारित किया जायेगा। यह वेब पर टेलीकास्ट भी होगा। टीवी उद्योग लगभग 90 हजार करोड़ रूपये का है। तीन लाख से अधिक लोगों को रोजगार अनुमानित 20 करोड में एक टीवी सेट है, जिसकी अनुमानित दर्शक संख्या 80 करोड़ या उससे भी अधिक है। पुरस्कार 59 श्रेणियों में आयोजित किए जाते हैं, जिसमें 30 तकनीकी पुरस्कार शामिल हैं। 140 के करीब डिजिटल प्लेटफार्म पर वेब श्रृंखला सहित 150 प्रोडक्शन हाउस नामांकन चरणों में शामिल हैं।
इस अवसर पर सोनी टेलीविजन हेड प्रोग्रामिंग आशीष गोलवलकर ने कहा कि मध्यप्रदेश और खासतौर पर इन्दौर में प्रतिभाओं की कमी नहीं हैं। वह स्वयं प्रति वर्ष इन्दौर आकर देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में कैम्पस और रिक्रूटमेंट करते हैं। चूंकि वह इन्दौर के ही रहने वाले हैं, अत: इन्दौर और मध्यप्रदेश से उनका विशेष जुड़ाव है। उन्होंने बताया कि सोनी चैनल द्वारा प्रस्तावित सीरियल “एक दूजे के वास्ते” की सम्पूर्ण शूटिंग भोपाल में की जायेगी।
टीवी कलाकार सुश्री शुभांगी अत्रे ने कहा कि इन्दौर के रूप में इंडियन टेलीविजन एकेडमी ने आयोजन के लिये “सही शहर पकड़ा है।’’
इंडियन टेलीविजन एकेडमी के संयोजक शशि रंजन ने इस अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ बेहद सुलझे हुये व्यक्तित्व के धनी हैं। वह पूर्व में आईटीए के अवार्ड में शामिल हो चुके हैं। मुख्यमंत्री चाहते हैं कि मध्यप्रदेश भी फिल्म एवं टेलीविजन सीरियल के निर्माण और शूटिंग के लिये अपनी पहचान बनायें। इसीलिये उनके प्रयासों से यह समारोह इस वर्ष मध्यप्रदेश के इन्दौर में किया जा रहा है।