मुजफ्फरपुर : बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा आदेश दिया है. कोर्ट ने कहा है कि पीड़ित 44 लड़कियों के पुनर्वास के लिए प्लान तैयार किया जाए. कोर्ट ने टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस (TISS) को पीड़ित लड़कियों के पुनर्वास के लिए प्लान तैयार करने का आदेश दिया है. इस मामले में चार सप्ताह में रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है.

टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस लड़कियों के पुनर्वास को लेकर चार सप्ताह में रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपेगा. सुप्रीम कोर्ट ने सभी लड़कियों के लिए अलग-अलग पुनर्वास प्लान तैयार करने के लिए कहा है. इस मामले में चार सप्ताह बाद अगली सुनवाई होगी.

पिछली सुनवाई में जस्टिस इंदु मल्होत्रा और जस्टिस एमआर शाह की बेंच ने सीबीआई को तीन महीने में जांच पूरा करने का आदेश दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा था कि इस मामले में आरोपियों के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट सुनवाई नहीं करेगा. 


साथ ही आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट से सीबीआई ने जांच के लिए 6 महीने का वक्त मांगा था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने का वक्त दिया. सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 आईपीसी और आईटी एक्ट और विजिटर जो लड़कियों का उत्पीड़न, ड्रग या ट्रैफिकिंग करते थे उनके बारे में भी जांच करने को कहा था.