पटना: राष्ट्रीय सेवक संघ पर विशेष शाखा द्वारा जांच करवाने का मुद्दा अब बढ़ता जा रहा है. बिहार सरकार के आदेश के बाद बीजेपी अब आक्रामक हो गई है. वहीं, आरजेडी ने नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया है. 

आरजेडी विधायक सरबजीत ने नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि सीएम की पहल स्वागत के लायक है. आरएसएस देश तोड़ने वाली विचारधारा कहा. वहीं, बीजेपी विधायक सचिंद्र प्रसाद ने एडीजी के बयान पर असहमति जताई है. साथ ही उन्होंने कहा है कि चिट्ठी की जानकारी कैसे किसी को नहीं हो सकती है. अब तो चिठी लिखने वाला भी ये कह दे कि उसको जानकारी नहीं थी.

वहीं, जेडीयू विधायक रवि ज्योति ने कहा है कि सरकार चिट्ठी के बारे में जानकारी नहीं थी. एसपी के स्तर पर चिट्ठी निकली है. 


आपको बता दें कि बुधवार को बिहार विधानपरिषद में बीजेपी विधान पार्षद संजय मयूख ने इस मसले को उठाया और कहा कि बिहार सरकार के स्पेशल ब्रांच की एक चिट्ठी के हवाले से ऐसी खबरें मीडिया में चल रही है कि आरएसएस और उसकी 19 सहयोगी संगठनों की कुंड़ली को खंगालने का आदेश दिया गया है. सरकार को इसका जबाब देना चाहिए.

वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा है कि आरएसएस का मुद्दा सदन में सजंय मयूख ने उठाया था लेकिन सरकार की तरफ से कोई जबाब नहीं मिला. बीजेपी इस मामले को उठा रही है. आरएसएस को नीतीश कुमार ने मजबूत किया है तो फिर सवाल क्यों उठा रही है इसकी जांच कराई जानी चाहिए. नीतीश कुमार के पास पावर है और नीतीश कुमार जांच करवा सकते हैं.