अहमदाबाद | कांग्रेस के पूर्व विधायक अल्पेश ठाकोर कहना है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से प्रभावित होकर भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है| भाजपा में शामिल होने से पहले अल्पेश ठाकोर ने कहा कि कांग्रेस ने उनके साथ विश्वासघात किया है, जिसकी वजह से कांग्रेस से उनका मोहभंग हो गया| कांग्रेस में मेरे खिलाफ षडयंत्र किए गए| मैं पिछड़े लोगों के विकास के लिए राजनीति में आया था| गुजरात में एक ही पार्टी की सरकार है और वह लोगों से जुड़ी हुई है| मैं गरीब, गांव, शोषित, वंचितों के विकास के लिए भाजपा में शामिल होने जा रहा हूं| अल्पेश ठाकोर ने कहा कि वह ऐसे व्यक्ति के प्रशंसक हैं जो छोटे से गांव से निकलकर देश-दुनिया में छा गया| मैं जिस समाज से जुड़ा हुआ हूं, उसके विकास के लिए 10-15 साल की प्रतीक्षा नहीं कर सकता| पहले कांग्रेस को मैं बहुत अच्छा लगता था, लेकिन अब अल्पेश ठाकोर उसके खराफ हो गया है| कांग्स में पार्टी से किसी को कोई लगाव नहीं है| कांग्रेस के पास एक लोकसभा बूथ में 500 एजन्ट भी नहीं हैं, ऐसे में कांग्रेस कैसे जीत सकती है? कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए अल्पेश ठाकोर ने कहा कि कांग्रेस में एक ही नेता का वर्चस्व है| कोई एक नेता को टिकट मिलता है तो वर्चस्व वाले नेता उसके खिलाफ पांच व्यक्तियों को निर्दलीय के तौर पर मैदान में उतार देता है| ऐसी स्थिति में संगठन जीत नहीं सकता| जबकि भाजपा अनुशासित पार्टी है और हमने काफी सोच विचार करने के बाद भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है|