पटना : लोकसभा चुनाव को लेकर पांच चरण की वोटिंग हो चुकी है. दो चरण के लिए मतदान बाकी है. 23 मई को परिणाम आएंगे. ऐसे में अभी से अटकलबाजी का दौर शुरू हो गया है. बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का दावा है कि 23 मई को आने वाले चुनाव परिणाम के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस्तीफा देंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) का अस्तित्व डायनासोर की तरह ही खत्म हो जाएगा. वहीं, जेडीयू ने तेजस्वी पर शुतुरमुर्ग की तरह सोचने का आरोप लगाया है. इतना ही नहीं आरजेडी के सहयोगी जीतन राम मांझी भी तेजस्वी यादव के दावों से सहमत नहीं हैं.

आरजेडी ने लोकसभा चुनाव के परिणामों को लेकर गुणा-भाग करना शुरू कर दिया है. तेजस्वी यादव का दावा है कि 23 तारीख के बाद बिहार की सियासत में भूचाल आएगा. नीतीश कुमार सीएम पद से इस्तीफा देंगे. समय से पहले विधानसभा चुनाव भी हो सकते हैं. साथ ही नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू डायनासोर की तरह गायब भी हो जाएगी.

तेजस्वी ने कहा है कि बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा कर रही थी, लेकिन उनके नेता राम माधव ने ही दावों की पोल खोल दी है. उन्होंने कहा कि दूसरे दलों को सहयोगी के रूप में अपने साथ जोड़ने की तैयारी कर रहे हैं. यह बीजेपी की हार को दर्शाने वाला बयान है.

वहीं, जेडीयू ने तेजस्वी यादव के डायनासोर वाले बयान पर हमला बोला है. पार्टी के प्रवक्ता राजीव रंजन ने तेजस्वी की तुलना शुतुरमुर्ग से कर दी है. राजीव रंजन ने कहा है कि तेजस्वी शुतुरमुर्ग की तरह जमीन के अंदर अपनी गर्दन छुपाकर हकीकत से बचने की कोशिश कर रहे हैं. जबकि हकीकत यह है कि जमीन पर लोग एनडीए के साथ हैं. तेजस्वी को जमीनी हकीकत की जानकारी नहीं.

23 मई को बिहार के सियासी गलियारे में भूकंप आएगा या नहीं इसको लेकर महागठबंधन में ही दो विचार देखने को मिल रहे हैं. आरजेडी की सहयोगी पार्टी हम (HAM) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी को नहीं लगता कि 23 तारीख के बाद बिहार के सियासी गलियारे में कोई भूचाल आएगा. मांझी कहते हैं कि नीतीश कुमार हारने के बाद भी इस्तीफा नहीं देंगे. नीतीश कुमार अपनी कुर्सी बचाने के लिए कुछ न कुछ उपाय जरुर कर लेंगे. मांझी ने यह भी कहा है कि मैं इसका सबसे बड़ा उदाहरण हूं.