भोपाल: मध्यप्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी ने बुधवार को साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को पार्टी का उम्मीदवार घोषित किया है. प्रज्ञा का मुकाबला पूर्व मुख्यमंत्री और भोपाल सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह से होगा. बीजेपी ने विदिशा, गुना और सागर सीट के उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. हालांकि इंदौर सीट को लेकर सस्पेंस बरकरार है. भोपाल से टिकट मिलने के बाद प्रतिक्रिया देते हुए प्रज्ञा ने कहा, "हम तैयार हैं. अब इसी कार्य में लग गई हूं." 

उधर, पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रत्याशी के चयन में कोई देरी नहीं हुई. पार्टी ने सोच समझकर प्रत्याशी का चयन किया है. 

उधर, कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने भी साध्वी प्रज्ञा को भोपाल से बीजेपी की ओर से प्रत्याशी घोषित किए जाने पर प्रतिक्रिया दी. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा, "मैं साध्वी प्रज्ञा जी का भोपाल में स्वागत करता हूं. आशा करता हूं कि इस रमणीय शहर का शांत, शिक्षित और सभ्य वातावरण आपको पसंद आएगा. मैं मां नर्मदा से साध्वी जी के लिए प्रार्थना करता हूं और नर्मदा जी से आशीर्वाद मांगता हूं कि हम सब सत्य, अहिंसा और धर्म की राह पर चल सकें. नर्मदे हर!" दिग्विजय सिंह ने बकायदा इसका वीडियो जारी किया. 

आज ही बीजेपी में शामिल हुईं थी प्रज्ञा
प्रज्ञा आज ही बीजेपी में शामिल हुईं. बुधवार को भाजपा दफ्तर पहुंचीं और उन्होंने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित पार्टी के कई नेता मौजूद थे. प्रज्ञा ने इस मौके पर भोपाल से चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा था, "भोपाल संसदीय क्षेत्र में दिग्विजय सिंह कोई चुनौती नहीं हैं. मेरा जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित है, लिहाजा जो जरूरी होगा उसे करूंगी."

साध्वी प्रज्ञा सितंबर 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी हैं. इस विस्फोट में सात लोगों की मौत हो गई थी. प्रज्ञा इस मामले में नौ साल जेल में थीं और फिलहाल वह जमानत पर हैं.