मुम्ब्ई । इंग्लैंड में आगामी विश्व कप 2019 में विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम उतरेगी। इस टीम में शामिल खिलाड़ियों से प्रशंसकों को शानदार प्रदर्शन के साथ ही खिताब जीतने की उम्मीदें हैं। विश्व कप में शामिल सभी खिलाड़ी शानदार हैं और उन्होंने अहम अवसरों पर अपने को साबित किया है।

विराट कोहली (कप्तान): उम्र 30 साल 
भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने 227 वनडे खेले हैं। इस दौरान उन्‍होंने 59.57 के औसत से 10843 रन बनाए हैं, जिसमें 41 शतक और 49 अर्धशतक शामिल हैं। इनका सबसे ज्यादा स्कोर 163 रन है।  ये कोहली का तीसरा विश्व कप होगा। इससे पहले उन्हों 2011 और 2015 के विश्व कप में खेला है।

रोहित शर्मा (उप-कप्तान) उम्र 31 साल
सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने 206 एकदिवसीय मैच। खेले हैं। इस खिलाड़ी ने एकदिवसीय में सबसे ज़्यादा तीन दोहरे शतक भी लगाये हैं।  रोहत ने अब तक 47.39 के औसत से 8010 रन बनाए हैं, जिसमें 22 शतक और 41 अर्धशतक हैं।  उनका शीर्ष स्कोर 264 रन है। रोहित ने 2015 विश्व कप में खेला था। 

महेंद्र सिंह धोनी उम्र 37 साल 
विकेटकीपर बल्‍लेबाज  धोनी ने 341 एकदिवसीय मैचों में उन्‍होंने 50.72 के औसत से 10500 रन बनाए है। इस दौरान 10 शतक और 71 अर्धशतक लगाए हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर 183 रन है। धोनी ने 2007, 2011 और 2015 विश्वकप खेले हैं।  

शिखर धवन उम्र 33 
शिखर धवन ने 128 एकदिवसीय मैचों में 44.62 के औसत से 5355 रन बनाये हैं। इस दौरान उन्होंने 16 शतक और 27 अर्धशक लगाये हैं। धवन का सर्वाधिक स्कोर 143 रन है। धवन ने भी 2015 विश्व कप में खेला था। 

केएल राहुल: उम्र 26 साल
बल्लेबाज लोकेश राहुल ने अब तक 14 एकदिवसीय मैचों में 34.30 के औसत से 343 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने एक शतक और दो अर्धशतक लगाए हैं। उनका सबसे ज्यादा स्कोर 100 रन है। पहली बार विश्वकप खेलेंगे

दिनेश कार्तिक: उम्र 33 साल 
विकेटकीपर बल्‍लेबाज़ दिनेश कार्तिक ने अब तक 91 एकदिवसीय मैचों में 31.03 के औसत से 1738 रन (9 अर्धशतक) बनाए हैं जबकि वह विकेट के पीछे 68 शिकार (61 कैच और 7 स्‍टंपिंग) कर चुके हैं। यही नहीं, पिछले काफी समय से उन्‍होंने मैच को फिनिश करने की क्षमता का भरपूर प्रदर्शन किया है। दिनेश कार्तिक पहली बार विश्वकप खेलेंगे। 

केदार जाधव उम्र 34 साल 
केदार जाधव ने 59 एकदिवसीय मैचों में 43.48 के औसत से 1174 रन बनाए हैं। उनका शीर्ष स्कोर 120 रन हैं। इस दौरान उन्होंने दो शतक और पांच अर्धशतक बनाये हैं। गेंदबाजी करते हुए जाधव ने 27 विकेट भी लिए हैं। केदार जाधव टीम के साथ ऑलराउंडर की हैसियत से रहते हैं। 

हार्दिक पंड्या: उम्र 25 
हार्दिक पंड्या टीम के अहम ऑलराउंडर हैं। अब तक उन्‍होंने 45 एकदिवसीय मैचों में 29 से अधिक की औसत से 731 रन बनाने के अलावा 39.72 के औसत से 44 वनडे विकेट भी लिए हैं। उनका शीर्ष स्कोर 44 रन है जबकि गेंदबाजी करते हुए उन्होंन 44 विकेट लिए हैं। 

जसप्रीत बुमराह: उम्र 25 साल 
तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह अभी विश्व के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में शामिल हैं। अपने अजीब एक्शन से यह बल्लेबाजों के लिए एक पहेली बने हुए हैं। इस खिलाड़ी को डेथ ओवरों में योर्कर के बल पर शानदार गेंदबाजी के लिए जाना जाता है। 25 साल का ये खिलाड़ी ने 49 एकदिवसीय मैचों में 22.15 के औसत से 85 विकेट लिए हैं। पहले विश्वकप नहीं खेला। 

युजवेंद्र चहल: उम्र 23साल
चहल ने अब तक 41 एकदिवसीय में 24.61 के औसत से 72 विकेट लिए हैं। चहल की लेगब्रेक गुगली को समझना बल्लेबाजों के लिए बेहद कठिन होगा। अपनी गेंदबाजी में लगातार बदलाव कर वह बल्लेबाजों की परेशानी बढ़ाते रहते हैं। 
पहली बार विश्वकप खेलेंगे

कुलदीप यादव: उम्र 24 साल 
चाइनमैन गेंदबाज़ कुलदीप यादव को 44 एकदिवीसय मुकाबलों का अनुभव है और वह अब तक 21.74 के औसत से 87 विकेट लिए हैं । पहली बार विश्वकप खेलेंगे। 

मोहम्मद शमी: 28
दाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद शमी ने अब तक 63 एकदिवीसय मैचों में 113 विकेट लिए हैं। इस दौरान उनका औसत 26.11 रहा है।वह सात बार किसी मैच में चार विकेट लेने का कारनामा कर चुके हैं 2015 विश्व कप में शमी ने 7 मैचों में 17 विकेट लिए थे। 2015 विश्व कप में खेला था। 

भुवनेश्वर कुमार: 29 साल 
तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार अपनी स्विंग गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं। इस के इस पेसर ने 105 एकदिवसीय मैचों में 35.66 के औसत से 118 विकेट लिए हैं। इंग्लैंड में भुवनेश्वर कुमार की स्विंग का सामना बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होगा। भुवनेश्वर ने 2015 विश्व कप में खेला था। 

रवींद्र जडेजा: उम्र 30 साल
जडेजा ने अब तक 151 एकदिवसीय मैचों में 29.92 रनों के औसत से 2035 रन बनाये हैं। उनका शीर्ष स्कोर 85 है। जडेजा ने गेंदबाजी के दौरान 35.89 के औसत से 174 विकेट लिए हैं। उन्होंने 2015 विश्वकप खेला था।

विजय शंकर उम्र 28 साल 
ऑलराउंडर विजय शंकर ने अबतक 9 एकदिवीसय मैचों में 33 के औसत से 165 रन बनाये हैं। उनका शीर्ष स्कोर 46 रन हैं। विजय शंकर के नाम दो विकेट भी हैं। उनकी ऑलराउंडर की योग्यता और अहम अवसरों पर खेलने की क्षमता शानदार रही है। इस ऑलराउंडर ने कई अवसरों पर अहम भूमिका निभाई है। पहली बार विश्वकप खेलेंगे।