मुंबई : लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से शुरू हो चुके हैं. हर तरफ सिर्फ मतदान के चर्चे हैं और आम लोगों से लेकर बॉलीवुड तक सभी जगह चुनाव की ही बातें हो रही हैं. इस चुनावी माहौल में रिलीज हो रही फिल्मों को घाटे का सामना करना पड़ रहा है. पिछले दिनों में रिलीज हुई  फिल्मों का बिजनेस भी काफी कम रहा है. इस हफ्ते रिलीज हो रही मेगा बजट फिल्म 'कलंक' को भी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है.

वरिष्ठ पत्रकार कुमार मोहन का मानना है कि फिल्मों का बिजनेस 70% गिर चुका है. एक तरफ चुनाव और दूसरी तरफ आईपीएल ने फिल्म बिजनेस की हालत खराब कर रखी है. लोग सिनेमाघरों की तरफ रुख नहीं कर रहे हैं.  चुनावी माहौल की वजह से फिल्में पहले ही वीकेंड में 30% से ज्यादा का बिज़नस नहीं कर पा रही हैं. हालांकि फिल्म 'कलंक' की एडवांस बुकिंग एक हफ्ते पहले से शुरू हो गई है तो यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि पहले हफ्ते में 'कलंक' फैंस को अपनी ओर आकर्षित कर ले वरना चुनावी माहौल का असर फिल्म के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन पर भी जरूर दिखेगा.

वरिष्ठ पत्रकार और फिल्म क्रिटिक इंदर मोहन पन्नू का मानना है कि लोग सिनेमाघरों की तरफ तब जाते हैं जब उन्हें एंटरटेनमेंट की आवश्यकता होती है. इस चुनावी माहौल लोग घर बैठे एंटरटेन हो रहे हैं. राजनीतिक पार्टियों की बयानबाजी, एनिमेशन, हंसी मजाक और व्यंग दर्शकों की एंटरटेनमेंट की खुराक को शांत करते हैं. इसी वजह से सिनेमाघरों की तरह नहीं जा रहे, जिसका असर फिल्मों के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन साफ नजर आ रहा है.
फिल्म 'कलंक' मेगा बजट, मल्टीस्टारर फिल्म है. जाहिर सी बात है इन एक्टर्स के फैंस फिल्म देखने जरूर आएंगे, लेकिन यह तादाद चुनावी माहौल की वजह से कम जरूर होगी. हालांकि फिल्म को कई हजार स्क्रीन्स पर  एक साथ रिलीज किया जा रहा है. अंदाजा यह है कि पहले हफ्ते में फिल्म एक बड़ा आंकड़ा पार करेगी. जैसा कि आप सभी जानते हैं कि बॉक्स ऑफिस कलेक्शन किसी भी फिल्म की सफलता और असफलता का मापदंड होता है ऐसे में देखना यह होगा चुनावी माहौल में फिल्म फैंस को आकर्षित कर कितने रिकॉर्ड तोड़ती है.