नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha elections 2019) के प्रचार में विपक्षी पार्टियां आरोप लगा रही हैं कि बीजेपी भारतीय वायुसेना की ओर से बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक के मुद्दे को बेवजह भुना रही है. इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंटरव्यू में खुद जवाब दिया है. चुनाव में बालाकोट के जरिए राष्ट्रवाद को हथियार बनाने के सवाल पर प्रधानमंत्री ने कहा कि मीडिया में एक छोटा सा वर्ग है, या यूं कहें कि कुछ हाइपर सेक्यूलर हैं. इन लोगों ने किसी भी चीज में से सरकार और मोदी को घेरने का तौर तरीका बनाया हुआ है.

उन्होंने आगे कहा हमारे देश में बोफोर्स का मु्द्दा था. इसी पाप को धोने के लिए वह बिना किसी सबूत के 6 महीने तक कहीं भी जाएं यही बोलते रहे इसका मतलब है. उन्होंन राष्ट्रवाद और देशभक्ति के मुद्दे को भनाने की भरपूर कोशिश की. एक प्रकार से उन्होंने जमीन जोत के रखी थी. अब मेरी कुशलता है कि उसमें मैं कौन सा बीज बोउं. उन्होंने मेहनत की, जैसे उन्होंने दुनिया भर के लोगों के सामने चौकीदार-चौकीदार कहा. मैंने धीरे से आकर लोगों के सामने उसका सही रूप दे दिया.

'किसान मरे तो मुद्दा सैनिक शहीद हो तो मुद्दा नहीं?'
कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो उनके वेस्टर्न वर्ल्ड के लोग हैं, उनके मार्गदर्शक हैं. स्ट्रैटेजिस्ट हैं उनकी मर्यादाएं हैं, आप बताइए सेना के सैकड़ों हजारों जवान देश की सुरक्षा के लिए बलि चढ़ गए क्या उनके बारे में सोचना क्या चुनाव का मु्द्दा नहीं होंगे. किसान मरे तो चुनाव का मुद्दा, लेकिन जवान मरे तो चुनाव का मुद्दा नहीं, ये कैसे हो सकता है. हमारे देश की सेना मजबूत हो, देश की रक्षा के लिए हम 40 साल से आतंकवाद को भुगत रहे हैं, अगर हम जनता के सामने नहीं लेकर जाएंगे. कश्मीर की समस्या नेहरू ने योजना गले की हड्डी बन गई है. 

70 सालों से एक ही योजना पर काम कर रहे हैं, वह सफल नहीं हो रही है, तो हमने नई योजना बनाई है. 370 और 35 ए के स्पैसिफिक रोडमैप बनाया है. देश की जनता को विश्वास में लेकर बताना चाहिए कि नहीं बताना चाहिए. दुनिया का कोई भी देश देशभक्ति की प्रेरणा के बिना चल सकता है क्या. अगर हमको ओलंपिक में मेडल लाना है तो उनको देशभक्ति से भरूंगा तब मेडल लाने की संभावना बनती है.

'रूस के साथ संबंधों को कमजोर किया गया'
लोकतंत्र में आलोचना अच्छी है, लेकिन जब सब्सटेंस के बगैर होता है तो वह आरोप हो जाता है. निंदा बहुत अच्छी बात है, लेकिन मुझे तो सिर्फ आरोप मिले हैं. अगर किसी ने ध्यान से देखा होता तो इस तरह के फुटपाथिया आरोप नहीं लगाता.

यूएई के सम्मान पर
दुनिया के देशों का अपने हिसाब से टाइम होता है. भारत रत्न पर भी आरोप लगा सकते हैं, आरोप लगते रहते हैं. मैं सउदी अरब गया वहां सम्मान मिला, फिलिस्तीन ने भी दिया औऱ अफगानिस्तान ने भी दिया.

बालाकोट पर विदेश
आज विश्व के अंदर भारत ने अपनी जगह बनाई है. पहले हम एक दर्शक थे और आज हम एक प्लेयर हैं. पहले ग्लोबल वार्मिंग पर चर्चा होती थी तो हमें कहा जाता था कि हम रुकावट करेंगे, लेकिन आज हम आगे बढ़कर काम कर रहे हैं. कई देशों का आपस में तनाव है, लेकिन हमने सभी के साथ तालमेल रखा था. पहले दुनिया बाइपोलर थी लेकिन आज दुनिया इंटरकनेक्टेड है. भारत आज आइसोलेटेड नहीं रह सकता है.

बीजेपी के संकल्प पत्र पर बोले पीएम
पीएम मोदी ने कहा कि पहली बार हम ऐसा संकल्प पत्र लेकर आए हैं, जिसमें मिडवे देश को हिसाब देने का फैसला किया है. 2022 के भी लक्ष्य तैयार किया है. 2024 का लक्ष्य तय किया है. सवा सौ करोड़ देश को भागीदार बनाने का फैसला किया है. 75 कदम हमने तय किए हैं जो हम 2022 तक पूरा करेंगे. 2022 तक हर परिवार को घर देंगे. 2022 तक हिंदुस्तान कोई भी परिवार नहीं होगा, जिसे बिजली का कनेक्शन नहीं होगा. किसान की आय 2022 तक हम दोगुना करना चाहते हैं.

हमारे आने से पहले एलईडी बल्ब की कीमत 350 से ज्यादा थी, लेकिन अब एलईडी से सस्ते होने से बिजली की बचत हो रही है और लोगों का बिल भी कम आता है. जैसे मोबाइल पहले की अपेक्षा अब सस्ता हुआ है वैसे ही सोलर भी सस्ता होगी. 

किसानों के प्रदर्शन के ऊपर पीएम की बात
हमने सॉयल हेल्थ कार्ड शुरू किया. उससे किसान तय कर पा रहा है कि वो क्या बोएं. अब उसे पता चल रहा है कि फर्टिलाइजर और दवाइयों के उपयोग को सही किया है. दूसरा हमने एमएसपी को लागू किया है. स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट को यूपीए की सरकार दबाकर बैठ गई थी. लेकिन हमने उसे लागू किया. पहले हमारे यहां दालें एमएसपी के अंतर्गत नहीं आती है. 

न्याय योजना बताती है कि 50 साल उन्होंने अन्याय किया'
जब वे न्याय योजना की बात करते हैं वो मानते हैं कि 50 सालों में एक परिवार ने घोर अन्याय किया है. जैसे 1984 में सिखों के कत्लेआम किया गया क्या वो उसको न्याय दे पाएंगे. कांग्रेस ने 356 का दुरुपयोग करके चुनी सरकारों को तोड़ दिया गिरा दिया. वो जो अन्याय किया उसे ठीक करेंगे क्या. इस देश में एमजीआर को अपमानित किया, करुणानिधि को अपमानित किया, कभी उन्होंने नंबूदरीपाद को अपमानित किया कभी बादल साहब को अपमानित किया. जो भी राजनीतिक दल नीचे से उभर कर आया उसे अपमानित किया. 

तीन तलाक के कारण जो माताएं बहने पीड़ित हैं, बर्बाद हो गई हैं उन्हीं के कारण हुई हैं, कोई व्यवस्था नहीं की, कोई सहायता नहीं की. क्या उनको न्याय दिला पाएंगे. इस लिए कांग्रेस को ये महंगा पड़ने वाला है. 

महबूबा और फारुख अब्दुल्ला की धमकी पर बोले पीएम
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि महबूबा और फारुख साहब ने भावनात्मक शोषण किया है. कश्मीर की जनता को उन्होंने चुनाव बहिष्कार करने को कहा था. वहां की जनता उनको मानने को तैयार नहीं है. दोनों पार्टियों ने चुनाव का बहिष्कार किया था तब 70 प्रतिशत पोलिंग हुई थी. आज सरपंच सीधा सरकार के साथ काम कर रहे हैं. 

मोदी बनाम गांधी परिवार
पीएम मोदी ने कहा हम मुद्दों की चर्चा करते हैं, बाबा साहेब का भाषण सुन लीजिए. उन्होंने कहा था कि वंशवाद लोकतंत्र के लिए सबसे खतरनाक है. अगर मैं वंशवाद के खिलाफ बोल रहा हैं, देश की जो दुर्दशा हैं वह 55 साल की सत्ता जिम्मेदार हैं. जहां तक मुझपर गाली का सवाल है, तो वो नामदार हैं, उनके घर बड़े बड़े पीएम हैं, मैं तो चाय वाला हूं. वो बड़े लोग हैं वो समझते हैं कि उनको हक है मुझे गाली देने का. डिक्शनरी का कोई गाली नहीं है जो मुझे नहीं दी गई है. 

सीमापार आतंकवाद पर बोले पीएम
आजादी के बाद से सीमापार आतंकवाद हम झेल रहे हैं, पहले देश भर में बम धमाके होते हैं, लेकिन अब ढाई जिलों में सीमित हो गया है. सरकार तो चलती रहनी चाहिए, चुनाव आए जाए. 

बालाकोट- पर मीडिया की भूमिका
देश की जनता उसका ठीक से मूल्यांकन करती है, देश की जनता अब सोशल मीडिया पर ज्यादा भरोसा करने लगी है और मैं इस अच्छा नहीं मानता हूं. 
राजनीतिक द्वेष जिसको पालनी है पाले, कम से कम हम एक सीमा बांधे, कि मोदी विरोध से होते हुए भारत विरोध ना कर बैठें. 

फेक न्यूज औऱ राफेल
मैं तो जानता हूं कि झूठ चल रहा है, चिंता कांग्रेस को लेकर हैं कि वो इस जगह पर पहुंच गई है कि झूठ के सहारे पहुंच गई. औऱ सुप्रीम कोर्ट को गंभीर टिप्पणी करनी पड़ी. 

राफेल पर विदेशी मीडिया
साफ लग रहा है, सच तो आ चुका है, सीएजी का रिपोर्ट आ गाया है, मीडिया के लोक सत्य बताने के हिम्मत नहीं कर रही है. 

केरल और बंगाल में हिंसा
मेरा अभी भी मत है यहां तक जम्मू कश्मीर में भी सरकार बनाने के इंतजार किया. 356 आखिरी विकल्प होना चाहिए. 

तमिलनाडू और कर्नाटक पर
बीजेपी साउथ में बेहतरीन परफॉर्मेंस करेगी. चाहे तमिलनाडू चाहे केरल हो. 

मिडिल क्लास और बजट में टैक्स रिबेट- 
अभी कांग्रेस के गाइड जो अमेरिका से आए हैं, उन्होंने कहा कि मिडिल क्लास पर टैंक्स लगाएंगे. मिडिल क्लास इमानगदारी से जीने वाला वर्ग है. टैक्स भी सबसे ज्यादा वह ही देता है. मिडिल क्लास को सम्मान मिलना चाहिए. हमने 5 लाख तक की आय को जीरो टैक्स कर दिया. होम लोन पर ब्याज में कटौती की है. रेरा का कानून बनाया. बिल्डर मिडिल क्लास को लूटते थे. 

गुजरात में बीजेपी में कमजोर हुई है?
बीजेपी 87-88 के बाद उभरी थी. हम 12 साटों पर लड़े थे वहां पर हम पूरी सीटें जीते थे. इस बार गुजरात की जनता 26 में 26 सीट बीजेपी को जनता जिताएगी. गुजरात के लोग विकास को पसंद करते हैं.