इस्लामाबाद। एक ओर जहां आतंकी घटनाओं और आतं‎कियों को पालने के के बाद भी पा‎किस्तान हमेशा से ही अपने कारनामों से मुकरता आया है। ले‎किन घाटी के पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ भारत के बढ़ते दबाव के तहत वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के(यूएनएससी)1267 प्रतिबंधों को लागू करने के ‎लिए मजबूर होता नजर आ रहा है।  आतंकवादी संगठनों पर कड़ी कारवाई और बड़े हमलों को अंजाम देने की उनकी योजनाओं को नाकाम करने के वैश्विक दबाव के बीच पाकिस्तान ने यूएनएससी 1267 प्रतिबंधों को लागू करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए। यूएनएससी 1267 प्रतिबंध पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित लोगों और संस्थाओं के खिलाफ है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय कार्यालय द्वारा जारी बयान में कहा गया कि ये दिशानिर्देश संयुक्त राष्ट्र द्वारा लक्षित किए गए लोगों और समूहों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को पूरा करने में मदद करेंगे। विदेश सचिव तहमीना जंजुआ ने कहा, पाकिस्तान को अपने कानूनी दायित्वों को पूरा करने के प्रति सजग रहना होगा जिनमें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रतिबंधों को लागू करना भी शामिल है। उन्होंने कहा, उम्मीद है कि ये दिशानिर्देश सभी हितधारकों को संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए अपनी जिम्मेदारियों के बेहतर ‎निर्वाह करने में सहायक होगा।