नई दिल्‍ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साख दुनिया में लगातार बढ़ रही है. महाशक्ति कहलाने वाले देश रूस ने शुक्रवार को पीएम मोदी को अपना सर्वोच्‍च सम्‍मान देने की घोषणा की है. इस सम्‍मान का नाम ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोसल है. भारत और रूस के बीच विशेष रणनीतिक साझेदारी संबंधों को विशिष्‍ट रूप से बढ़ावा देने के लिए पीएम मोदी को यह सम्‍मान दिया गया है.

इस सम्‍मान को वर्ष 1698 में रूस के तत्‍कालीन सम्रात जार पीटर द ग्रेट ने ईसा मसीह और रूस के पैट्रन सेंट के पहले देवदूत के सम्‍मान में स्‍थापित किया था. पीएम मोदी यह सम्‍मान पाने वाले 17वें व्‍यक्ति हैं. इससे पहले रूस यह सम्‍मान चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग को भी दे चुका है. इस सम्‍मान को सोवियत संघ के समय बंद कर दिया था. लेकिन 1998 में रूस ने इसे दोबारा शुरू किया था.
 

बता दें कि 4 अप्रैल को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों को “काफी बढ़ावा” देने के लिए अपने प्रतिष्ठित जायद मेडल से सम्मानित किया था. यूएई के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान ने राजाओं, राष्ट्रपतियों और राष्ट्राध्यक्षों को दिए जाने वाले इस सर्वोच्च सम्मान से प्रधानमंत्री मोदी को सम्मानित किया था.