किंग्स इलेवन पंजाब ने सोमवार रात राजस्थान रॉयल्स को आईपीएल के अपने पहले मैच में 'विवादित ढंग' से 14 रनों से हरा दिया. राजस्थान रॉयल्स के सलामी बल्लेबाज जोस बटलर आईपीएल के इतिहास में ‘Mankading' के शिकार होने वाले पहले बल्लेबाज बने, जब किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान आर. अश्विन ने मैच के दौरान विवादित ढंग से उन्हें 'रन आउट' किया.

उस समय बटलर 43 गेंद में 69 रन बनाकर खेल रहे थे और अश्विन ने चेतावनी दिए बिना उन्हें रन आउट, जिससे खेलभावना को लेकर सवाल उठ रहे हैं. खेल के नियमों के अनुसार तीसरे अंपायर ने बटलर को आउट दिया, लेकिन ऐसे विकेट खेलभावना के विपरीत माने जाते हैं. इसके बाद बटलर और अश्विन के बीच तीखी बहस भी हुई. इस विकेट से मैच का रुख ही पलट गया.

मैच के बाद जब अश्विन से Mankading और खेल भावना को लेकर उठ रहे सवाल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'मेरी ओर से यह बहुत सहज था. यह योजना नहीं थी या ऐसा कुछ भी नहीं था. यह खेल के नियमों के भीतर है,'
शेन वार्न और इयोन मॉर्गन उन लोगों में शामिल हैं, जिन्होंने अश्विन की आलोचना की है. वॉर्न ने ट्वीट कर लिखा- कप्तान और एक व्यक्ति के रूप में मुझे अश्विन ने निराश किया...

मोर्गन ने ट्वीट किया. 'मैं विश्वास नहीं कर सकता कि क्या देख रहा हूं ... एक समय आएगा, जब मुझे लगता है कि अश्विन को पछतावा होगा...
क्या होती है Mankading?

मैच में दूसरे छोर पर खड़ा बल्लेबाज अगर गेंदबाज के हाथ से गेंद छूटने से पहले क्रीज से बाहर निकल आए तो उसे रन आउट करने को Mankading कहते हैं.

भारतीयों में कपिल देव ने दक्षिण अफ्रीका के पीटर कर्स्टन को 1992-93 की सीरीज के दौरान Mankading से आउट किया था. वहीं, घरेलू क्रिकेट में स्पिनर मुरली कार्तिक ने बंगाल के संदीपन दास को रणजी ट्रॉफी मैच में इसी तरह से आउट किया था.

FACT

ऐसा पहली बार नहीं, जब जोस बटलर Mankading के शिकार बने. 2014 में वनडे मुकाबले के दौरान श्रीलंका के सचित्रा सेनानायके ने बटलर को इसी अंदाज में रन आउट किया था, लेकिन चेतावनी देने के बाद.