फक्कड़ बाबा रामायणी। उम्र 76 साल है। अब तक लोकसभा और विधानसभा के 16 चुनाव लड़ चुके हैं। अब 17वीं बार चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। फक्कड़ बाबा का कहना है कि उनके गुरु ने कहा था कि वो बीसवीं बार चुनाव जीत जाएंगे। लिहाजा गुरु आज्ञा का पालन कर रहे हैं। मथुरा जिले में जैसे ही चुनावी शोर मचता है हर किसी को फक्कड़ बाबा रामायणी की याद आने लगती है। फक्कड़ बाबा ने पहला चुनाव 1976 में लड़ा था। कहते हैं 2000 रुपये खर्च हुए थे। एक भक्त की गाड़ी ले ली थी। लेकिन बाबा अपनी जमानत बचा नहीं सके थे। 

तभी से जो भी लोकसभा और विधानसभा का चुनाव आ रहे हैं बाबा उसमें अपना भाग्य आजमाने कूद पड़ते हैं। कहते हैं कि निश्चलानंद सरस्वती उनके गुरु हैं। उन्होंने कहा था कि चुनाव लड़ते रहो। बीसवीं दफा तुम चुनाव जीत जाओगे। लिहाजा वह लगातार चुनाव लड़ रहे हैं।