मोहाली । विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) के विवादास्पद नियम पर आपत्ति के बावजूद बीसीसीआई वाडा को शीर्ष भारतीय क्रिकेटरों के ‘रहने के स्थल’ की जानकारी मुहैया कराता रहा है। बीसीसीआई अब तक राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) के अधीन नहीं है और वाडा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को इस संबंध में अपनी चिंतायें व्यक्त की थी। दुबई में हाल में हुई आईसीसी बोर्ड बैठक में इस मुद्दे को रखा गया था और बीसीसीआई को तुरंत नाडा के साथ इस मामले को हल करने के लिये कहा गया था। बीसीसीआई 2017 चैम्पियंस ट्राफी से ही अपने खिलाड़ियों के ठिकानों की जानकारी वाडा के डोपिंग रोधी प्रशासनिक एवं प्रबंधन प्रणाली (एडीएएमएस) के डाटाबेस में अपलोड करता रहा है। एडीएएमएस में खिलाड़ियों के ठिकानों की जानकारी, उपचाराधीन मामलें में राहत (थेरेपेटिक यूज एग्जैम्पशंस - टीयूई), जांच की योजना और नतीजों के प्रबंधन, लैब के नतीजे के माड्यूल की जानकारी होती है।