योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर राम जन्म भूमि विवाद का हल मध्यस्थता से निकलता है मैं उसका स्वागत करूंगा. अयोध्या विवाद पर बातचीत के ज़रिए हल निकालने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने तीन मध्यस्थ नियुक्त किए है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा दावा किया है. योगी आदित्यनाथ ने एबीपी न्यूज़ के शो ‘यूपी शिखर समागम’में कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी 75 से ज्यादा सीटें जीतेगी. इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि इस बार बीजेपी अमेठी और आजमगढ़ पर भी कब्जा करेगी.


सीएम योगी ने एसपी बीएसपी पर भी हमला बोला, सीएम ने कहा कि कहा कि ये दोनों दल भ्रष्टाचार के नमूने हैं. इन्हें म्यूजियम में रखना चाहिए. अमेठी को लेकर सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि आज विकास की सबसे ज्यादा जरूरत अमेठी को है, क्योंकि अमेठी पिछली चार पीढ़ियों से विकास से वंचित था.


रामंदिर पर भी बोले योगी, मध्यस्थता से हल निकले तो स्वागत
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर राम जन्म भूमि विवाद का हल मध्यस्थता से निकलता है मैं उसका स्वागत करूंगा. अयोध्या विवाद पर बातचीत के ज़रिए हल निकालने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने तीन मध्यस्थ नियुक्त किए है.


राम का जन्म अयोध्या में हुआ, सम्मान मिलना चाहिए- योगी
एबीपी न्यूज़ के कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘’भगवान राम का जन्म अयोध्या में हुआ था, इसलिए उसका सम्मान मिलना चाहिए.’’ उन्होंने कहा, ‘’अगर आज से पहले इस मामले का मध्यस्थता से समाधान हो जाता तो सबसे पहले मैं उसका स्वागत करता.’’

मंदिर बहुत बनेंगे, लेकिन आस्था का सम्मान होना चाहिए- योगी
सीएम योगी ने आगे कहा, ‘’कल इस मामले पर माननीय सुप्रीम कोर्ट ने तीन सदस्यीय टीम गठित की है. अगर सुप्रीम कोर्ट को लगता है कि इससे समाधान निकलेगा तो यह अच्छी बात है.’’ योगी ने कहा, ‘’दुनिया जानती है कि यह आस्था का सवाल है. मंदिर बहुत बनेंगे, लेकिन आस्था का सम्मान होना चाहिए.’’

सुप्रीम कोर्ट ने नियुक्त किए मध्यस्थ
सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि अयोध्या विवाद से जुड़े पक्ष बातचीत के ज़रिए हल निकालने की कोशिश करें. कोर्ट ने इसके लिए पूर्व जस्टिस एम खलीफुल्ला की अध्यक्षता में 3 मध्यस्थों का एक पैनल बनाया है. कोर्ट ने मध्यस्थों से कहा है कि वो 8 हफ्ते में काम खत्म करें. अगर इस प्रक्रिया से कोई हल नहीं निकलता तो कोर्ट में सुनवाई जारी रहेगी. सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस एफ एम आई खलीफुल्ला, श्री श्री रविशंकर और श्रीराम पांचु को मध्यस्थ नियुक्त किया है.