रांची, 
भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में हार के बाद कहा कि ऐसे समय में आउट होना निराशाजनक रहा क्योंकि गेंदों और रनों के बीच केवल 20 का अंतर था. कोहली की 41वीं शतकीय पारी के बाद भी ऑस्ट्रेलिया के 313 रनों के जवाब में भारतीय टीम 48.2 ओवर में 281 रन पर आउट हो गई. कोहली ने 16 चौके और एक छक्के की मदद से 95 गेंदों पर 123 रन की आकर्षक पारी खेली.

कोहली ने कहा, ‘पिच आसान नहीं थी, ऐसे में आपको खराब गेंद का फायदा उठाने के साथ जोखिम भी लेना था. अगर हमारे पांच की जगह तीन विकेट गिरे होते तो हमारे पास मौका होता. हर विकेट के साथ लक्ष्य मुश्किल होता गया. मेरे और विजय शंकर के आउट होने के बाद हमारे पास कोई मौका नहीं था.’ भारतीय कप्तान ने कहा, ‘मुझे लगता है मैंने अपनी शैली में बल्लेबाजी की. लेकिन, मैं इस बात को लेकर निराश हूं कि ऐसे समय पर आउट हुआ जब बची हुई गेंद और रन के बीच 20 का फासला था.’

कोहली ने कहा, ‘हम पहले से लक्ष्य का पीछा करने की सोच रहे थे. एक समय लगा कि हम 350 रन के लक्ष्य का पीछा करेंगे. मैक्सवेल के रन आउट होने के बाद हमने वापसी की. हमें कहा गया था कि शाम साढ़े सात बजे के बाद यहां ओस होगी लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं हुआ. यह गलत अनुमान था.’ कोहली ने आगामी दो मैचों में दूसरे खिलाड़ियों को मौका देने की बात भी कही.
उन्होंने कहा, ‘अगले दो मैचों में टीम में कुछ बदलाव होगा. हम खिलाड़ियों को मैच जीताऊ प्रदर्शन करने के बारे में कहना चाहते है और वे इंग्लैंड जाने से पहले शानदार लय में होना चाहेंगे.’ ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरॉन फिंच 300 का आंकड़ा पार करने के बाद भारतीय शीर्षक्रम को जल्दी पवेलियन भेजकर खुश थे. उन्होंने कहा, ‘हमारे खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया. इस विकेट पर 300 रन बनाना शानदार रहा. शुरुआत में विकेट लेना जरूरी था.’

फिंच ने शतकीय पारी खेलने वाले उस्मान ख्वाजा की तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘हमें पता था इस विकेट पर बल्लेबाजी करना मुश्किल है. इसलिए मैं और उस्मान लंबी साझेदारी करना चाहते थे ताकि मैक्सवेल और स्टोइनिस खुलकर खेल सकें. मैं अपनी बल्लेबाजी में सुधार के लिए काफी मेहनत कर रहा था. हमारी शुरूआत अच्छी रही.’

फिंच ने कहा, ‘जांपा ने बेहतरीन गेंदबाजी की, झाए रिचर्डसन ने कमाल का प्रदर्शन किया. पैट कमिंस एक बार फिर शानदार रहे.’ मैन ऑफ द मैच उस्मान ख्वाजा पहली शतकीय पारी खेल खुश थे. उन्होंने कहा, ‘पिछली बार मैं 98 रन पर आउट हो गया था ऐसे में दो और रन बनाना शानदार रहा. जीत से बेहतर कुछ भी नहीं, खासकर मजबूत भारतीय टीम के खिलाफ. विराट ने शानदार बल्लेबाजी की. फिंच और फिर स्टोइनिस और कैरी ने दमदार बल्लेबाजी की.’