मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को संचारी रोग उन्मूलन अभियान का शुभारंभ गोरखपुर में किया. इस मौके पर सीएम योगी ने गोरखनाथ मंदिर में 33 गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. यह अभियान 10 से 28 फरवरी तक चलेगा. इसमें 40 लाख से अधिक लोगों को 10 से 14 फरवरी तक घर-घर जाकर फाइलेरिया की दवा खिलाई जाएगी. इस पांच दिवसीय अभियान के लिए 3786 टीमें बनाई गई हैं.

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'प्रदेश सरकार ने पूरे प्रदेश में विशेष अभियान प्रारंभ किया है.' इस विशेष अभियान में पिछले साल भी दस्तक नाम से अभियान चलाया गया था जिस में व्यापक जन जागरण के आधार पर आमजन को संचारी रोगों से बचाव करने और अगर रोग होता है तो उसका उपचार कहां से प्राप्त हो सकता है.

सीएम योगी ने कहा कि पहले चरण में 10 फरवरी से 28 फरवरी तक एक विशेष जागरूकता कार्यक्रम इंसेफेलाइटिस और अन्य संचारी रोगों पहले चरण में चल रहा है. बता दें कि दस्तक अभियान में आशा घर-घर जाकर लोगों को इंसेफेलाइटिस व अन्य संचारी रोगों से बचाव के उपाय बताएंगी. सफाई के बारे मे जागरूक करेंगी. मच्छरों के लार्वा पनपने के स्थानों व सुअरबाड़ों की विशेष सफाई के बारे में बताएंगी.