नई दिल्ली : भारतीर रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से रेपो रेट 6.5 प्रतिशत से घटाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया गया है. इस कटौती के बाद यदि आपका बैंक लोन की ब्याज दर कम नहीं कर रहा तो आप एसबीआई की तरफ से मिलने वाले ऑफर का फायदा उठा सकते हैं. इस ऑफर के तहत अपना होम लोन एसबीआई में ट्रांसफर करा सकते हैं. इसके लिए आपसे बैंक किसी भी प्रकार का एक्सट्रा चार्ज नहीं लेगा. लेकिन लोन ट्रांसफर कराते समय यह जरूर ध्यान रखें कि आप लोन तभी ट्रांसफर कराएं जब आपके मौजूदा कर्जदाता बैंक और नए बैंक की ब्याज दर में बड़ा अंतर हो.

ऑफर 28 फरवरी 2019 तक
एसबीआई ने होमलोन ट्रांसफर कराने पर जीरो प्रोसेसिंग फी लेने का ऑफर ग्राहकों को दिया है. अगर आप भी एसबीआई में अपना होम लोन ट्रांसफर कराते हैं तो इससे आपको जीरो प्रोसेसिंग फी के साथ ही सस्ते दर पर लोन का फायदा भी मिलेगा. हालांकि आपको बता दें कि एसबीआई का यह ऑफर केवल इसी महीने यानी 28 फरवरी 2019 तक वेलिड है. अगर आपको भी होम लोन ट्रांसफर कराना है तो 28 फरवरी से पहले प्रोसेस शुरू कर लें. एसबीआई की तरफ से यह जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये दी गई है.
एसबीआई की इस स्कीम को बैलेंस ट्रांसफर होम लोन कहा जा रहा है, जो कि एसबीआई की तरफ से केवल अन्य बैंकों से होमलोन लेने वालों को दिया जा रहा है. अगर आप भी होमलोन ट्रांसफर कराना चाहते हैं तो इसके लिए आपने कम से कम 12 मासिक किस्तों का भुगतान किया हो. साथ ही आपकी क्रेडिट रेटिंग भी अच्छी होनी चाहिए.
एसबीआई होमलोन के फायदे
- कम ब्याज दर
- जीरो प्रोसेसिंग फी
- कोई हिडेन चार्ज नहीं
- प्री पेमेंट पेनाल्टी नहीं
- डेली रिडयूसिंग बैलेंस पर ब्याज
- 30 साल में री-पेमेंट करने का ऑप्शन
- ब्याज दर में महिलाओं के लिए विशेष छूट