भोपाल। राजधानी में आज कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के आगमन को लेकर राजधानी पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। इसके चलते एक दिन पहले ही  शाम से शहर की सड़कों को छावनी में तबदील कर दिया गया। करीब तीन पुलिस जवानों की तैनाती सुरक्षा वयवस्था में की गई। राजधानी कि सभी सीमाओं को सील कर दिया गया इसके साथ ही चैकिंग पांइट लगाकर बाहरी वाहनों की तलाशी के बाद ही उन्हें शहर की सीमाओ में प्रवेश दिया जा रहा है। आईजी भोपाल रेंज जयदीप प्रसाद ने गुरुवार दोपहर पुलिस कंट्रोल रूम में वीवीआईजी के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था और ट्रैफिक व्यवस्था की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जानकारी के अनुसार आईजी जयदीप प्रसाद ने कंट्रोल रूम में आयोजित इस बैठक के दौरान आईजी प्रसाद ने अधिकारियों को बताया कि आठ फरवरी को राहुल गांधी भोपाल आएंगे और जम्बूरी मैदान पर आयोजित किये जा रहे कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। उन्होंने कहा कि इस दौरान वीवीआईपी रूट व्यवस्था एवं कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था में लगे सभी अधिकारी और कर्मचारी संवेदनशीलता एवं सजगता के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे। इसके साथ ही अपनी अधीनस्थ ड्यूटी में लगे कर्मचारियों को ब्रीफ कर आपसी तालमेल बनाए रखेंगे। इस दोरान जम्बूरी मैदान तक जाने वाला मुख्य मार्ग डायवर्ड रहेगा। चेतक ब्रिज सें जम्बूरी मैदान की ओर जाने वाले गांधी चौक होते हुए जाएंगे। बाहर से आने वाले सभी वाहन रिंग रोड से होते हुए पटेल चौक से जम्बूरी मैदान स्थित पार्किंग स्थल तक पहुंचेंगे। वीआईपी वाहनों सेंट जेवियर स्कूल के पास में पार्क किया जाएगा। समारोह से सम्मिलित होने बाहर से आने वाले वाहनों की पार्किंग एवं रूट व्यवस्था हेतु संबंधित अधिकारी अपने अधीनस्थ लगे बल को ब्रीफ कर यातायात प्रबंधन करेंगे। वीवीआईपी रूट एवं कार्यक्रम स्थल पर लगे अधिकारियों एवं बीडी एवं डीएस टीम से विशेष चैकिंग करवाकर सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।  इसके साथ ही हाईराइज बिल्डिंगों, भवनों पर विशेष बल लगाकर संदिग्धों पर नजर रखी जाएगी। वही आज राहुल गांधी के दौरे को लेकर मध्य प्रदेश पुलिस और ट्रैफिक पुलिस ने गुरुवार को एक डेमो काफिला निकालकर सुरक्षा ओर ट्रैफिक व्यवस्था का ट्रायल किया, डेमो काफिला बोर्ड ऑफिस चौराहे से होते हुए जम्बूरी मैदान के लिए रवाना हुआ जिसमे ट्राफिक व्यवस्था को लेकर डेमो किया गया की कार्यक्रम के दौरान किस तरह ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए