नई दिल्ली, लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. गुरुवार को अल्पसंख्यक सम्मेलन के दौरान राहुल गांधी ने पीएम मोदी की नकल उतारी. इसके बाद पूरा स्टेडियम ठहाकों से गूंज उठा. दरअसल, राहुल ने पीएम मोदी को 10 मिनट तक डिबेट करने की चुनौती दी. उन्होंने कहा कि वह (पीएम मोदी) बहुत डरपोक आदमी हैं. मैं उन्हें पहचान गया हूं.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, 'यह मैं किसी से भी कह देता हूं कि नरेंद्र मोदी जी को मेरे साथ एक स्टेज पर खड़ा कर दो. एक मंच पर 10 मिनट के लिए डिबेट करवा दो. यह भाग जाएगा. मैं कह रहा हूं यह डरता है. मैं इस आदमी को पहचान गया हूं, यह डरपोक आदमी है. कोई इसे कह दे कि मैं आपके सामने खड़ा हूं नहीं जाऊंगा पीछे, आप क्या करोगे, नरेंद्र मोदी जी.' इसके बाद राहुल माईक छोड़कर पीछे चले जाते हैं यानी वह पीएम मोदी की नकल करते हैं.

पीएम मोदी का नकल उतारने के बाद राहुल जैसे ही माईक की ओर से मुड़ते हैं तो वहां पर मौजूद नेता पहले ठहाके लगाते हैं, फिर तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वागत करते हैं. 
इससे पहले राहुल गांधी ने कहा कि ये देश किसी एक जात, धर्म, प्रदेश या भाषा का नहीं है. ये देश हिन्दुस्तान के हर व्यक्ति का है. अगर आप नरेंद्र मोदी का चेहरा ध्यान से देखेंगे तो दिखेगा कि उनके चेहरे पर घबराहट है. नरेंद्र मोदी जी को पता लग गया है कि देश को बांटकर, नफरत फैलाकर हिन्दुस्तान पर राज नहीं कि जा सकता. हिन्दुस्तान के प्रधानमंत्री को देश को जोड़ने का काम कर करना चाहिए, अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें हटा देना चाहिए.
राहुल गांधी ने कहा कि न्यायिक क्षेत्र में आरएसएस के आदमी, चुनाव आयोग में आरएसएस के लोग, सीबीआई चीफ आरएसएस का आदमी है. उनका लक्ष्य हिन्दुस्तान के हर संस्थान को खत्म करना है. वे चाहते हैं कि देश के नागपुर से चलाया जाए. वे चाहते हैं कि आरएसएस के प्रमुख पूरे देश को चलाएं. बीजेपी मोदी को आगे रखना चाहती है और उसका रिमोट कंट्रोल मोहन भागवत के हाथ में चाहती है.