जनता के बीच पुलिस की छवि सुधारने को डीजीपी ने थानों में स्वागत डेस्क बनाने का फरमान जारी किया है और किला थाने में एक दरोगा पीड़ितों का स्वागत गालियों से करते हैं। दरोगा की इस करतूत का वीडियो वायरल हो गया है। 15 मिनट के वीडियो में दरोगा ने अनगिनत गालियां देने के साथ ही पीड़ितों को यह नसीहत भी दे डाली कि 'थाने में मारपीट करके आया करो। इससे डॉक्टर, वकील और पुलिस को रुपये मिलते हैं।' 

बीते शुक्रवार की रात किला के जसोली में दो पक्षों में कहासुनी हो गई थी। रात करीब 11 बजे पुलिस ने एक पक्ष को थाने में बैठा लिया। इसके बाद दोनों पक्षों के लोग थाने पहुंचे और एक-दूसरे पर कार्रवाई की मांग करने लगे। इससे गुस्साए दरोगा थाने के अंदर गाली-गलौज करने लगे। उन्होंने अभद्रता की सारी हदें पार दीं। इसके बाद बोले, 'थाने में मारपीट करके आया करो। इससे हमारी भी कमाई होती है। यहां जो आता है कुछ देकर ही जाता है।' इसी बीच भीड़ में खड़े एक युवक ने उनसे पूछ लिया कि क्या मारपीट से उनको रुपये मिलते हैं? इस पर दरोगा सीना चौड़ा करते हुए बोले, 'हां मिलते हैं रुपये।' 15 मिनट के वीडियो में दरोगा ने कम से कम 20 बार गालियां दीं। इसके बाद दरोगा ने हवालात में बंद एक आरोपी को भी कुछ अश्लील शब्द कहे। काफी देर तक चले हंगामे के बाद दरोगा राउंड लेने की बात कहकर थाने से निकल गए। 

कुछ दिन पहले ही नवाबगंज से आए हैं दरोगा
जिस दरोगा का वीडियो वायरल हुआ है, वह गढ़ी चौकी में तैनात हैं और कुछ समय पहले ही नवाबगंज से बरेली आए हैं। उनके बारे में बताया जाता है कि उनका बात करने का अंदाज ही ऐसा है। 

एसपी सिटी अभिनंदन सिंह ने बताया कि किसी भी इंस्पेक्टर, दरोगा और सिपाही को थाने में गाली-गलौज करने के लिए नहीं रखा है। वीडियो की जांच कराई जाएगी। दोषी पाए जाने पर दरोगा के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।