नई दिल्ली, करतारपुर कॉरिडोर के बहाने भारत और पाकिस्तान के बीच शुरू हुई नोकझोंक थमने का नाम नहीं ले रही है. भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत के पाकिस्तान को सेक्युलर देश बनने के बयान पर पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि भारत को पहले सेक्युलर देश बनना चाहिए, फिर वह हमें नसीहत दे.

मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा किया पाकिस्तान इस्लामिक देश है, भारत हमें न बताए कि हमें कैसा बनना है. भारत सेक्युलर देश होने का दावा करता है, लेकिन वहां पर मुस्लिमों की हालत कैसी है. बाबरी मस्जिद का मुद्दा उदाहरण है. सबसे पहले पाकिस्तान की बजाए भारत को सेक्युलर बनना चाहिए.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में आसिफ गफूर ने कहा कि पाकिस्तानी सेना भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए कोशिश कर रहा है, लेकिन भारत ने आपसी बातचीत को फिर से शुरू करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है. उन्होंने मोदी सरकार की आलोचना की.

बता दें, सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा था कि पाकिस्तान एक इस्लामिक स्टेट बन गया है. अगर वे भारत के साथ तालमेल बनाकर रहना चाहते हैं तो उन्हें एक सेक्युलर देश बनना होगा. हम एक सेक्युलर देश हैं. अगर वो हमारा जैसा बनना चाहते हैं तो कुछ हो सकता है. आतंकवाद और बातचीत एक साथ नहीं हो सकते हैं.

भारतीय सेना प्रमुख ने यह बयान करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान पर दिया था. शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि भारत पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की गुगली में फंस गया.